Ahamd Faraz Best Shayari/Poetry

,
Ahamd Faraz Best Shayari/Poetry
Ahamd Faraz Best Shayari/Poetry

Isse pehle ki tu bewafa ho jaye,kyu na aye dost ham juda ho jaye
Tu bhi heere se ban gaya phattar,ham bhi kal jane kya se kya ho jaye...

इससे पहले की तू बेवफा हो जाये। क्यों न ए दोस्त हम जुड़ा हो जाए 
तू भी हीरे से बन गया फत्तर। हम भी कल जाने क्या से क्या हो जाये... 

❤❤❤❤

Kuch iss tarh kiya usne mere zakhmo ka ilaaz
marham bhi lagaya to kate ki nok se....

कुछ इस तरह किया उसने मेरे ज़ख्मो का इलाज़ 
मरहम भी लगाया तो काटे की नोक से... 

❤❤❤❤
uss shaksh se itna sa talluq hai faraz
paresha wo ho to hume neend nahi aati...

उस शख्श से इतना सा ताल्लुक है फ़राज़ 
परेशां वो हो तो हमे नींद नहीं आती। .. 
❤❤❤❤
Barbad karne ko kayi or bhi raste the faraz
na jane unhe mohabbat ka he khayal kyu aaya..

बरबाद करने को कयी और भी रास्ते है फ़राज़ 
ना जाने उन्हें मोहब्बत का ही ख्याल  क्यों आया.... 
❤❤❤❤
Tu bhi to aaine ki tarh bewafa nikla faraz
jo saamne aaya usi ka ho gaya..

तू भी तो आईने की तरह बेवफा निकला फ़राज़ 
जो भी सामने आया उसी का हो गया। ... 
❤❤❤❤

bach na saka khuda bhi mohabbat ke tazako se
ek mehboob ke khatir sara jahaa bana dala..

बच न सका खुदा ही मोहब्बत के ताज़को से 
एक  मेहबूब की खातिर सारा जहां बना डाला। .. 
❤❤❤❤

maine maagi thi ujaale ki faqat ek  kiran faraz
tumse kisne kaha aag laga di jaaye

मैंने मांगी थी उजाले की फ़क़त एक किरण फ़राज़ 
तुमसे किसने कहा आग लगा दी जाए... 
❤❤❤❤

Itni si baat pe dil ki dhadkan ruk gayi faraz
ek pal ko tassavur kiya tere begair jeene ka..

इतनी सी बात पे दिल की धड़कन रुक गयी फ़राज़ 
एक पल तो तस्सवुर किया तेरे बगैर जीने का। .. 
❤❤❤❤

is tarh gaur se mat dekh mera hath aye faraz
in lakeero me hasrato ke siva kuch bhi nahi hai...

इस तरह गौर से मत देख मेरा हाथ ए फ़राज़ 
इन लकीरी में हसरतो के सिवा  कुछ भी नहीं है... 
❤❤❤❤

usne muje chod diya to kya hua
maine bhi to choda tha sara zamana uske liye..

उसने मुझे छोड़ दिया तो क्या हुआ 
मैंने भी छोड़ा था सारा ज़माना उसके लिए... 
❤❤❤❤

ye mumkin nahi ke har log he badal jate hai
kuch halaat se saacho me bhi dhal jate hai...

ये मुमकिन नहीं के हर लोग हे बदल जाते है.. 
कुछ हालात से साचो में भी ढल जाते है... 

0 comments to “Ahamd Faraz Best Shayari/Poetry”

Post a Comment

Recent Posted Ghazal

 

Shayari Zone Copyright © 2017 | Disclaimer Disclaimer | Contact us Contact us | Privacy PolicyPrivacy Policy