गुजर गया वह वक्त जब आरजू थी तेरी-Dr.Rahat Indori



 Dr.Rahat Indori Best Shayari




 Dr.Rahat Indori Best Shayari


पहले मैंने अपने दरवाजे पर खुद आवाज दी फिर थोड़ी देर में खुद निकल कर आ गया
 कुछ पानी बचा रखा था मैंने अपनी आंखों में एक समंदर सूखे होंठ लेकर आ गया...

pahale mainne apane daravaaje par khud aavaaj dee,
 phir thodee der mein khud nikal kar aa gaya
 kuchh paanee bacha rakha tha mainne apanee aankhon mein
 ek samandar sookhe honth lekar aa gaya...

 💗💗💗💗

अब अपने रूह  के छालों का कुछ हिसाब करूं 
मैं चाहता था कि चिरागों को आफताब करूं....
बूतो  से अगर मुझको इजाजत कभी मिल जाए तो 
शहर भर के खुदाओ को बेनकाब करूं....

ab apane rooh ke chhaalon ka kuchh hisaab karoon 
 main chaahata tha ki chiraagon ko aaftaab karoon.... 
 booto se agar mujhako ijaajat kabhee mil jaye 
to shahar bhar ke khudao ko benakaab karoon....


💗💗💗💗


तेरी हर बात मोहब्बत में गवारा करके बैठे हैं दिल के बाजार में ख़सारा करके 
आसमानों की तरफ फेंक दिया है मैंने चंद मिट्टी के चिरागों को सितारा करके 
मैं वो दरिया हूं जिसकी हर बूंद भवर है तुमने अच्छा ही किया है मुझसे किनारा करके 
आते जाते हैं कई रंग मेरे चेहरे पर लोग लेते हैं मजा जिक्र तुम्हारा करके 
मुंतज़िर हू  के सितारों की जरा आंख लगे चांद को छत पर बुला लूंगा इशारा करके....

teree har baat mohabbat mein gavaara karake baithe hain dil ke baajaar mein khasaara karake aasamaanon kee taraph phenk diya hai mainne chand mittee ke chiraagon ko sitaara karake 
 main vo dariya hoon jisakee har boond bhavar hai tumane achchha hee kiya hai mujhase kinaara karake 
 aate jaate hain kaee rang mere chehare par log lete hain maja jikr tumhaara karake muntazir hoo ke sitaaron kee jara aankh lage chaand ko chhat par bula loonga ishaara karake....

💗💗💗💗

गुजर गया वह वक्त जब आरजू थी तेरी 
 अब तो खुदा भी हो जाए तो सजदा ना करूं...

gujar gaya woh waqt jab aaraju thi tere
ab to khuda bhee ho jae to sajada na karoon...


💗💗💗💗

आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया
 क्या करूं तुमने जो मुझे भुला दिया 
ना करते  वफा ना मिलती यह सजा 
 शायद मेरी वफाओं ने तुझे बेवफा बना दिया ..... 

aaj achaanak teree yaad ne mujhe rula diya
 kya karoon tumane jo mujhe bhula diya 
na karate wafa na milti yah saja shaayad 
mere wafaoon ne tujhe bewafa bana diya ..... ...
💗💗💗💗

Latest
Previous
Next Post »

Recent Updates