Dil Mera

,
Sad Shayari



sad shayari


Na jane kon sa aaseb dil me basta hai,jo bhi tehra aakhir makan chod gaya..
Hath seeene pen a rakh kar dikhao mujko,mere toote huye dil ki  wo sda yaad karo..
Maine mana ke wafagaar nahi hu lekin,tum kisi aur ko is tarh to barbaad karo... 

ना  जाने कौन  सा आसेब दिल में बस्ता  जो भी ठहरा  आखिर माकन छोड़ गया 
हाथ सीने पर ना रखें के दिखाओ मुझको मेरे टूटे हुए दिल की सदा याद करो 
मैंने मन के वफा गार नहीं हु लेकिन तुम किसी और को इस तरह तो बरबाद करो... 
❤❤❤❤
Tujko kya  maloom mere seene me,kis dard aur nakaami ke chaale hai..
Aur bewafa ek bar to keh de,meri aankh tere hawale hai…

तुझको क्या मालूम मेरे सीने में किस दर्द और नाकामी के छाले  है 
और बेवफा एक बार तो कह दे मेरी आँख तेरे हवाले है। .. 
❤❤❤❤
Gaur kar us gareeb ki khusiya,kitne sadmo se bhar gayi hogi..
Jisko paimaane dosti dekar,teri aanke mukar gayi hogi…

गौर कर उस गरीब की खुशिया कितने  सदमों से  भर गयी होगी 
जिसको पैमाने दोस्ती देकर तेरी आँखे मुकर गयी होगी... 

❤❤❤❤
Gariba chaak kiya phir raha hu gulshan me,gulo ki shaak se bichda hua gulab hu mai..
Bahar rooth gayi ek nazar deke muje,muje yu na dekho ke ujda hua shabaab hu mai…

गरीबा चाक किये फिर रहा हु गुलशन में गुलो की शाख से बिछड़ा हुआ गुलाब हू  मै 
बहार रूठ गयी एक नज़र देके मुझे।,मुझे यु न देखो के उजड़ा हुआ शबाब हहू  मै। .... 
❤❤❤❤

Na ab muskurane ko jee chahata hai,na aasu bahane ko jee chahata hai..
Hasi teri aankhe,hasi teri baate,bas inhi me doob jane ko dil chahata hai..

ना अब मुस्कुराने को जी चाहता है ना आसु  बहाने को जी चाहता है
हसी तेरी आँखे ,हसी तेरी बाते ,बस इन्हीं  में डूब जाने को दिल चाहता है...  

0 comments to “Dil Mera”

Post a Comment

Recent Posted Ghazal

 

Shayari Zone Copyright © 2017 | Disclaimer Disclaimer | Contact us Contact us | Privacy PolicyPrivacy Policy