Meri Zindgi

,
Life shayari
life shayari

Ab to kuch apni tabiyat bhi juda lagti hai
Saas leta hu to zakhmo ko hawa lagti hai
Kabhi raazi to kabhi khafa lagti hai..
Jindgi tu he bata tu meri kya lagti hai…

अब तो कुछ अपनी तबीयत भी जुदा  लगती है
सास लेता हू तो ज़ख़्मो को हवा लगती है
कभी राज़ी तो कभी खफा लगती है..

जिंदगी तू हे बता तू मेरी क्या लगती है
❤❤❤❤

Taheer hu riqwato ki nazar mujse maag lo
Udne ki aarazo hai to parr mujse maag lo
Ek ghar hai dil ka dusra ghar ka nigaaho ka
In do gharo me koi bhi ghar mujse maag lo..

ताहीर हू रिक़वतो की नज़र मुजसे माग लो
उड़ने की आरज़ू   है तो पर मुजसे माग लो
एक घर है दिल का दूसरा घर का निगाहो का

इन दो घरो मे कोई भी घर मुजसे माग लो
❤❤❤❤
Hamne jinke liye raaho me bichaya tha lahoo
Humse kehte hai wo bewafa yaad nahi
Aao ek sazda kare aalam-e-madhoshi me
Log kehte hai ke mujko khuda yaad nahi..

हमने जिनके लिए राहो मे बिछाया था लहू
हमसे  कहते है वो बेवफा याद नही
आओ एक सज़दा करे आलम-ए-मदहोशी मे

लोग कहते है के मुजको खुदा याद नही
❤❤❤❤

aapse badle mohabbat ke chukaye na gaye
chaar aasu meri halat pe bahaye na gye..
jab muflisi ban gayi jab apna muqaddar 
isliye ham teri mehfil me bulaye na gaye....

आपसे बदले मोहब्बत के चुकाए ना गये
चार आसू मेरी हालत पे बहाए ना गये..
जब मुफ़लिसी बन गयी जब अपना मुक़द्दर 

इसलिए हम तेरी महफ़िल मे बुलाए ना गये..
❤❤❤❤
husn ke khilte phool hamesa be-dardo ke hath beeke
aur chahat ke matwalo ko dhool mili veerano ki
dil ke nazuk jazbo par raaz hai sone chandi ka
ye duniya kya keemat degi sauda dil insano ki..



हुस्न के खिलते फूल हमेशा  बेदर्दो  के हाथ बीके
और चाहत के मतवालो को धूल मिली वीरानो  की
दिल के नाज़ुक जज़बो पर राज़ है सोने चाँदी का

ये दुनिया क्या कीमत देगी सौदा दिल इंसानो की..

0 comments to “Meri Zindgi”

Post a Comment

Recent Posted Ghazal

 

Shayari Zone Copyright © 2017 | Disclaimer Disclaimer | Contact us Contact us | Privacy PolicyPrivacy Policy